Gurugram: gang rape of bar worker, accused absconding, Gurugram Information in Hindi

0
4

1 of 1




गुरुग्राम। देर रात शिफ्ट में काम करके वापस घर लौट रही 24 वर्षीय एक बार कर्मचारी को कथित तौर पर अपहृत करके उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया है। बुधवार को पुलिस ने बताया कि यह घटना तब हुई जब युवती ने मेहरौली-गुरुग्राम रोड पर उन लोगों से कार में लिफ्ट ली थी। ये घटना सोमवार तड़के की है। पुलिस के अनुसार, पीड़िता को लिफ्ट देने वाले तीनों आरोपी कथित रूप से उसे 50 किलोमीटर दूर झज्जर जिले में ले गए थे, वहां उनसे 2 और लोग मिले। इसके बाद कथित तौर पर इन पांचों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इन लोगों ने पीड़ित को कथित तौर पर बंदी बना लिया गया और सुबह तक उसका यौन उत्पीड़न करते रहे।

इसके बाद आरोपियों ने कार से जाकर उसे फरुखनगर (हरियाणा) में फेंक दिया और मौके से भाग गए। युवती ने मदद के लिए जब कॉल किया तब सोमवार को सुबह 6.35 बजे पुलिस की टीम उसके पहुंची। पीड़िता दिल्ली में रहती है और गुरुग्राम के एक बार में काम करती है।

पुलिस के पास की गई अपनी शिकायत में पीड़िता ने बताया है, “देर रात तक शिफ्ट करने के बाद तड़के लगभग 3 बजे वह अपने घर वापस जाने के लिए सहारा मॉल के सामने एमजी रोड पर ट्रांसपोर्ट का इंतजार कर रही थी। उसी समय 3 अपराधी एक कार में आकर मेरे पास रुके। मैंने उन्हें बताया कि मुझे द्वारका मोड़ जाना है। उन्होंने मुझे बताया कि वे भी द्वारका मोड़ की ओर जा रहे हैं।”

उसने आगे बताया, “जब मैंने ड्राइवर से कार में बैठे अन्य 2 व्यक्तियों के बारे में पूछा, तो उन्होंने कहा कि वे इफ्को चौक पर उतरेंगे। इसलिए मैं कैब में सवार हो गई। लेकिन जब उन्होंने दिल्ली की बजाय एक्सप्रेसवे की ओर कैब बढ़ाई तो मैंने पूछा कि वे मुझे कहां ले जा रहे हैं। इस पर उन्होंने मुझे धमकी दी और छेड़छाड़ की। एक आरोपी ने मुझे बताया कि वे झज्जर जिले के पाटोदा गांव में हैं और फिर वे कार को खेत में ले गए और दुष्कर्म किया किया। उन्होंने मुझे सड़क पर फेंक दिया। वे एक दूसरे को पंकज, मनोज और विक्की बोल रहे थे। वहीं बाकी 2 लोगों के नाम मुझे नहीं पता हैं।”

वह किसी तरह फरुखनगर पहुंची और पुलिस को सूचना दी। गुरुग्राम पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराने अस्पताल ले गई, जिसमें दुष्कर्म की पुष्टि हुई है।

उसकी शिकायत के आधार पर मानेसर के महिला पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की संबंधित धाराओं के तहत दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

महिला थाना मानेसर की एसएचओ इंस्पेक्टर पूनम हुड्डा ने कहा, “हमने उसका बयान दर्ज कर लिया है। आरोपियों की पहचान कर ली है, वे झज्जर जिले के मूल निवासी हैं। हम उन्हें पकड़ने के लिए छापेमारी कर रहे हैं और जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लेंगे।”

–आईएएनएस

ये भी पढ़ें – अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे



Supply hyperlink

Leave a Reply